December 4, 2022
PIO Full Form In Hindi

PIO Full Form In Hindi – PIO कार्ड कैसे हासिल करें ?

PIO Full Form In Hindi :- ऐसे भारतीय जो विदेश में PR लेकर रहते हैं, उन्हें दोहरी नागरिकता देने के लिए PIO कार्ड जारी किए जाते हैं, परंतु बहुत सारे लोग PIO के बारे में नहीं जानते है।

इसीलिए आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे, कि PIO full form क्या है ? इसके क्या फायदे हैं तथा PIO से जुड़ी अन्य जानकारी से भी आपको अवगत करवाएंगे।


PIO का मतलब क्या है ? ( PIO Full Form In Hindi )

Pio एक Spanish word है, जिसका अर्थ होता है – पवित्र या भक्त। Pio की full form “ person of Indian Origin ” होती है। इसे हिंदी में “ भारतीय मूल का व्यक्ति ” कहा जाता है।

P –  person of

I – Indian

O – origin

ऐसे लोग जो भारत में जन्मे है या फिर उनका जुड़ाव भारत से किसी भी रूप मे हो, परंतु वह स्वयं दुनिया के किसी भी कोने में रह रहे हो, अर्थात् उनके parents, दादा दादी आदि भारत में रहते हो और वह खुद विदेश मे रह रहे हो, उन्हे pio issue की जाती है। भारतीय मूल का व्यक्ति अपने चार पीढी पहले तक apply कर सकते हैं।


PIO card  क्या है ?

ऐसे भारतीय जो विदेश में बसे हैं, उन्हें दोहरी नागरिकता देने के लिए भारत सरकार ने PIO कार्ड की योजना बनाई थी। Pio card,  person of Indian origin  होता है। इसे भारतीय मूल के व्यक्ति को issue किया जाता है।

इसके जरिए भारतीय मूल के लोगों की भावनाओं को सम्मान देते हुए उन्हें यह अधिकार दिया गया है कि वह संकट के समय अपने देश से जुड़े रह सकते हैं।

यह पासपोर्ट की तरह ही 10 साल तक valid होता है। इसकी शुरुआत सन 2006 में की गई थी। भारत सरकार के द्वारा प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर Pio card देने की घोषणा की थी।

यह उन भारतीय व्यक्तियों को issue किया जाता है, जो भारत से बाहर अर्थात विदेशों में रह रहे हो, परंतु उनके माता-पिता, दादा-दादी या परदादा परदादी, भारत में रहते हो। ऐसे मे देश उस व्यक्ति को अपनी मिट्टी अपनी जड़ों से जुड़े रहने का मौका देता हैं।

यदि उन पर कभी भी कोई भी संकट आता  है, तो उनके पास यह अथॉरिटी होती है कि वह अपने घर वापस लौट सकते हैं।


PIO card कैसे हासिल करें ?

ऐसे भारतीय जिनके पास किसी भी समय भारतीय पासपोर्ट रहा हो, उन्हे यह PIO card मिल सकता है।

भारत सरकार के कानून 1935 में वर्णित किए गए तरीके से वह व्यक्ति भारत के स्थाई नागरिक रहे हो या उसके माता-पिता या दादा दादी भारत में पैदा हुए और भारत मे स्थायी तौर से रहे हो या फिर ऐसा व्यक्ति जो भारत के निवासी का पति या पत्नी है वह इस कार्ड को हासिल कर सकता है।


PIO  card रखने के क्या फायदे हैं ?

Pio card रखने के लाभ निम्न प्रकार से है :-

  1. Pio card धारकों को सबसे बड़ा फायदा यह है कि उन्हें जब भारत की यात्रा करनी होती है तो उन्हें अलग से किसी भी visa आवश्यकता नहीं होती।
  2. Pio कार्ड के जरिए भारत में आने वाला व्यक्ति 180 दिनों तक रह सकता है।
  3. Pio कार्ड जारी होने वाली तारीख से आने वाले 15 सालों तक भारत की यात्रा बिना वीजा के कर सकते हैं अर्थात pio card issuing तारीख से अगले 15 सालों तक valid रहता है।
  4. Pio कार्ड धारक भारत में मिशनरी, रिसर्च, पर्वतारोहण, प्रतिबंधित क्षेत्रों को छोड़कर सभी प्रकार के कार्य कर सकते हैं।

किन देशों को Pio कार्ड जारी किया जाता है ?
  • अफगानिस्तान
  • पाकिस्तान
  • श्रीलंका
  • नेपाल
  • भूटान
  • चीन
  • ईरान
  • बांग्लादेश

ऊपर लिखे हुए सभी देशों को छोड़कर अन्य सभी देशों को भारत सरकार के द्वारा PIO card दिया जाता है।

मोदी सरकार ने PIO  कार्ड धारकों को वीजा लेने में हो रही परेशानियों की वजह से 9 जनवरी 2015 को यह घोषणा की थी, कि इन लोगों को OCI कार्ड की तरह ही वीजा दिया जाएगा और इस तरह से PIO कार्ड को OCI कार्ड में बदल दिया गया है।


निष्कर्ष

दोस्तों, आज के लेख में हमने आपको PIO Full Form In Hindi के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी है।

हमें उम्मीद है, कि हमारा यह लेख PIO Full Form In Hindi आपके लिए मददगार साबित होगा। यदि इस लेख से जुड़ा हुआ कोई भी प्रश्न आप हम से पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।


FAQ

Q1. Pio card की कितनी फीस लगती है ?

Ans. 18 वर्ष से कम उम्र वालों के लिए 7500 रुपए और उससे अधिक उम्र वालों के लिए ₹15000 लिया जाता है।

Q2. Pio card धारक कब से शुरू किया गया है ?

Ans. 19 सितंबर 2002 से

Q3. भारतीय नागरिकता की शर्तें क्या है ?

Ans. जन्म, पंजीकरण, प्राकृतिक, वंशानुगत

Q4. PIO card के लिए कहां आवेदन करें ?

Ans. भारतीय दूतावास या  कौंसुलेट

Q5. OCI और PIO का विलय कब किया गया था ?

Ans. 9 जनवरी 2015 से

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *